Coriander Powder

अगर धनिया पाउडर का पोषण चार्ट देखा जाए तो इसमे 8 प्रतिशत फाइबर, 2.9 प्रतिशत कैल्शियम और अन्य गुणकारी तत्व पाए जाते हैं। यह एंटी डायबीटिक भी होता है। इस कारण यूरोप के कई देशों में इसको एंटी डायबीटिक पौध के रूप में भी जाना जाता है।
भारतीय रसोई में धनिये का इस्तेमाल काफी उपयोगी होता जा रहा है. मसालों और व्यंजनों में स्वाद की मात्रा बढ़ाने और स्वादिष्ट बनाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है. खास तौर पर इसकी हरी पत्तियों का इस्तेमाल तो हर घर में किया जाता है साथ ही इसके सूखे हुए बीज भी बहुत ही उपयोगी होते है.धनिये के इतने गुणों के कारण इसका महत्व इतना बढ़ गया है कि विज्ञान भी इसके अनेक औषधीय गुणों की प्रसंशा करता है

जैसा की आपने देखा होगा की हमारे देश का कोई भी अखबार हो या कोई भी पत्रिका उसमे स्वास्थ्य का एक कॉलम जरूर होता है। लेकिन पश्चिमी देशों में ऐसा बहुत कम देखने को मिलता है। क्योंकि एक भारत ही है जिसे जड़ी बुटियों और औषधियों का गढ़ माना जाता रहा है। अन्य देशों की तुलना में आज भी हमारे देश में इन पर भरोसा किया जाता है। आपको भी अच्छे से पता होगा की यहां पाए जाने वाली औषधियां सदियों से इस्तेमाल में लाई जा रही हैं। ऐसे में आप धनिया पाउडर को ही ले लीजिए। इसका इस्तेमाल वैसे तो खाना बनाने में मसाले के तौर पर किया जाता है। लेकिन क्या आपको पता है की धनिया पाउडर सिर्फ मसाले के लिए नहीं होता है। इसका प्रयोग कई बीमारियों की रोकथाम में औषधि के रूप में किया जाता है।धनिया पाउडर को चुटकी भर हींग और काला नमक के साथ लेने से पाचन स्वस्थ रहता है। यह भूख बढ़ाने के साथ-साथ पेट में बनने वाली गैस को भी बाहर निकालता है। इस पाउडर की चाय का उपयोग करके भी आप अपना पाचन ठीक रख सकते हैं। साथ ही यह उल्टी, दस्त, गैस और अपच में आराम दिलाता है।
dhaniya ब्लड शुगर को नियंत्रित करने की क्षमता रखता है। ऐसा दुनिया के कई अनुसंधानों ने बताया है। धनिया पाउडर, शरीर से शुगर के स्तर को कम करता है और इन्सुलिन की मात्रा को बढ़ाता है। जिस वजह से ब्लड शुगर हमेशा नियंत्रण में रहता है।चिकन पॉक्स जैसे संक्रमित रोगों के लिए धनिया पाउडर बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। अगर आप धनिया पाउडर का इस्तेमाल नियमित करते हैं तो आप ऐसे संक्रमण रोगों से बच सकते हैं। धनिया पाउडर को चिकन पॉक्स के दानों पर लगाने से इसके कीटाणु मर जाते हैं और ठंडक मिलती है। धनिया पाउडर को पानी में मिलाकर लगाने से फोड़े, फूंसी, दाने और मुंहासों पर लगाने से इनमे आराम मिलता है। इसकी तासीर काफी ठंडी होती है। जिस वजह से ठंडक मिलती है

There are no reviews yet.

Be the first to review “Coriander Powder”